s
By: RF competition   Copy   Share  (8) 

पारिस्थितिकी तंत्र जैविक एवं अजैविक घटक | Ecosystem Biotic and Abiotic Components

9689

जीव विज्ञान की वह शाखा जिसके अंतर्गत जीवधारियों तथा उनके वातावरण के पारस्परिक संबंधों का अध्ययन किया जाता है, 'पारिस्थितिकी' कहलाती है। कार्य और रचना की दृष्टि से विभिन्न जीवों तथा उनके वातावरण की मिली-जुली इकाई को 'पारिस्थितिक-तंत्र' कहा जाता है। पारिस्थितिक तंत्र अथवा पारितंत्र शब्द का प्रयोग सबसे पहले वैज्ञानिक टेन्सले ने किया था। एक निश्चित भौगोलिक क्षेत्र अथवा वास-स्थान में रहने वाली विभिन्न समष्टियों को जैविक समुदाय कहा जाता है। संरचनात्मक दृष्टि से प्रत्येक पारिस्थितिक तंत्र दो घटकों से निर्मित होता है-
1. जैविक घटक
2. अजैविक घटक

The branch of biology under which the interactions between living organisms and their environment are studied is called 'Ecology'. The composite unit of different organisms and their environment in terms of function and composition is called 'eco-system'. The term ecosystem or ecosystem was first used by scientist Tensley. Different populations living in a certain geographical area or habitat are called biological communities. Structurally, every ecosystem is made up of two components-
1. Organic Component
2. Abiotic components

(i) जैविक घटक- इसे तीन भागों में वर्गीकृत किया जा सकता है-
1. उत्पादक
2. उपभोक्ता
3. अपघटक

(i) Organic component- It can be classified into three parts-
1. Manufacturer
2. Consumer
3. Decomposer

इन 👇परीक्षापयोगी प्रकरणों के बारे में भी जानें।
1. जांतव रेशे
2. प्राणियों में पोषण- पाचन तंत्र
3. पादपों में पोषण- प्रकाश संश्लेषण
4. विज्ञान की शाखाएँ-जीवधारियों का नामकरण व वर्गीकरण
5. भौतिक राशियाँ और उनके मात्रक
6. प्रमुख भौतिक शास्त्री एवं उनका योगदान

उत्पादक- वे घटक जो अपना भोजन स्वयं निर्मित करते हैं, उत्पादक कहलाते हैं। उदाहरण- हरे पौधे।

Producer- The components which make their own food are called producers. Example- Green plants.

उपभोक्ता- वे घटक जो उत्पादक द्वारा बनाए गए भोजन का उपयोग करते हैं, उपभोक्ता कहलाते हैं। ये तीन प्रकार के होते हैं-
1. प्राथमिक उपभोक्ता- इसके अंतर्गत वे जीव आते हैं, जो हरे पौधों या उनके किसी भाग का सेवन करते हैं। उदाहरण- बकरी, गाय, भैंस आदि।
2. द्वितीयक उपभोक्ता- इसमें वे जीव आते हैं, जो प्राथमिक उपभोक्ता को अपने भोजन के रूप में ग्रहण करते हैं। उदाहरण- लोमड़ी, मोर, भेड़िया आदि।
3. तृतीयक उपभोक्ता- इसके अंतर्गत वे जीव आते हैं, जो द्वितीयक उपभोक्ता को भोजन के रूप में ग्रहण करते हैं। उदाहरण- शेर, चीता, बाघ आदि।

Consumer- The components which use the food prepared by the producer are called consumers. These are of three types-
1. Primary Consumers- This includes organisms that consume green plants or any part of them. Example- Goat, Cow, Buffalo etc.
2. Secondary consumer- It includes those organisms which take primary consumer as their food. Example- fox, peacock, wolf etc.
3. Tertiary consumer- It includes those organisms which take secondary consumer in the form of food. Example- Lion, Cheetah, Tiger etc.

इन 👇ज्ञानवर्धक प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. आती छींक रोकना नुकसानदेह हो सकता है
2. प्याज काटने पर आँखों में जलन और आँसू क्यों आते हैं?
3. खुजलाने पर सुख की अनुभूति क्यों होती है
4. नाखून क्यों और प्रतिदिवस कितने बढ़ते हैं?
5. दर्द का अहसास क्यों और कैसे होता है?

अपघटक- इस वर्ग के अंतर्गत प्रमुख रूप से कवक एवं जीवाणु आते हैं। ये मृत उत्पादक और उपभोक्ताओं का अपघटन कर देते हैं। इससे मृत जीव-जंतु भौतिक तत्वों में परिवर्तित हो जाते हैं।

Decomposers- Fungi and bacteria mainly come under this class. They decompose dead producers and consumers. Due to this the dead animals are converted into physical elements.

(ii) अजैविक घटक- ये निम्नलिखित प्रकार के होते हैं-
1. कार्बनिक पदार्थ
2. अकार्बनिक पदार्थ
3. जलवायुवीय कारक

(ii) Abiotic components- These are of the following types-
1. Organic matter
2. Inorganic substances
3. Climatic Factors

अजैविक घटक के उदाहरण- प्रकाश, जल, वायु, ताप, मृदा, आर्द्रता एवं खनिज तत्व।

Examples of abiotic components- Light, water, air, heat, soil, moisture and minerals.

रसायन विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें।
1. रसायन विज्ञान की प्रमुख शाखाएँ, विभिन्न क्षेत्रों में योगदान और शोध व अध्ययन के संस्थान
2. रसायनज्ञ- डॉ. प्रफुल चंद राय, डॉ. हरगोविंद सिंह खुराना, लेवोजिए

आशा है, यह जानकारी परीक्षा प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों के लिए उपयोगी एवं महत्त्वपूर्ण होगी।
धन्यवाद।
RF competition



I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
rfcompetiton.com

Comments

POST YOUR COMMENT

Categories

Subcribe