s
By: RF competition   Copy   Share  (428) 

अलंकार क्या है? | वक्रोक्ति, अतिशयोक्ति और अन्योक्ति अलंकार

2361

अलंकार की परिभाषा

काव्य की शोभा बढ़ाने वाले तत्वों या धर्मों को अलंकार कहा जाता है। अलंकार का सामान्य अर्थ 'गहना' या 'अभूषण' होता है।

अलंकार के प्रकार

अलंकार मुख्य रूप से तीन प्रकार के होते हैं–
1. शब्दालंकार
2. अर्थालंकार
3. उभयालंकार।
वक्रोक्ति, अतिशयोक्ति और अन्योक्ति अलंकार, शब्दालंकार और अर्थालंकार के अंतर्गत आते हैं।

हिन्दी के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़िए।
1. पूर्ण विराम का प्रयोग कहाँ होता है || निर्देशक एवं अवतरण चिह्न के उपयोग
2. शब्द शक्ति- अभिधा शब्द शक्ति, लक्षणा शब्द शक्ति एवं व्यंजना शब्द शक्ति
3. रस क्या है? || रस के स्थायी भाव || शान्त एवं वात्सल्य रस
4. रस के चार अवयव (अंग) – स्थायीभाव, संचारी भाव, विभाव और अनुभाव
5. छंद में मात्राओं की गणना कैसे करते हैं?

वक्रोक्ति अलंकार

जहाँ कथित का ध्वनि द्वारा दूसरा अर्थ ग्रहण किया जाए, वहाँ वक्रोक्ति अलंकार होता है।
उदाहरण– 1. मैं सुकुमारि नाथ वन जोगु।
तुमहि उचित तप, मोकहूँ भोगू।
जब भगवान श्री राम ने सीताजी से उनके साथ न आने के लिए आग्रह किया था, तब सीताजी भगवान श्रीराम से उपरोक्त वाक्य कहा था। इसका अर्थ होता है, कि मैं राजकुमारी हूँ और महलों में रहने के योग्य है तथा आप वन में रहने के योग्य हैं। आप वन में रहकर तप करेंगे और मैं यहाँ महलों में सुख से रहूँगी।
2. को तुम हौ? घन श्याम अहै? घन श्याम अहौ कितहूँ बरसौ
चितचोर कहावत है हम तो, तहँ जाँहु जहाँ घन है सरसौ।

हिन्दी के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़िए।
1. घनाक्षरी छंद और इसके उदाहरण
2. काव्य में 'प्रसाद गुण' क्या होता है?
3. अपहनुति अलंकार किसे कहते हैं? || विरोधाभास अलंकार
4. भ्रान्तिमान अलंकार, सन्देह अलंकार, पुनरुक्तिप्रकाश अलंकार
5. समोच्चारित भिन्नार्थक शब्द– अपेक्षा, उपेक्षा, अवलम्ब, अविलम्ब शब्दों का अर्थ

अतिशयोक्ति अलंकार

जहाँ लोक सीमा का अतिक्रमण करके किसी वस्तु या विषय का वर्णन बढ़ा-चढ़ाकर किया जाए, वहाँ अतिशयोक्ति अलंकार होता है।
उदाहरण– 1. पड़ी अचानक नदी अपार, घोड़ा कैसे उतरे पार
राणा ने सोचा इस पार, तब तक चेतक था उस पार।
2. देख लो साकेत नगरी है यही
स्वर्ग से मिलने गगन में जा रही।
3. अद्भुत एक अनुपम बाग
जुगल कमल पर गज क्रीडत है, तापर सिंह करत अनुराग।
4. पानी परात को हाथ छुयो नहीं नैनन के जल से पग धोए।

हिन्दी के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़िए।
1. प्रबंध काव्य और मुक्तक काव्य क्या होते हैं?
2. कुण्डलियाँ छंद क्या है? इसकी पहचान एवं उदाहरण
3. हिन्दी में मिश्र वाक्य के प्रकार (रचना के आधार पर)
4. मुहावरे और लोकोक्ति का प्रयोग कब और क्यों किया जाता है?
5. राष्ट्रभाषा क्या है और कोई भाषा राष्ट्रभाषा कैसे बनती है? || Hindi Rastrabha का उत्कर्ष

अन्योक्ति अलंकार

जहाँ प्रस्तुत के माध्यम से अप्रस्तुत का अर्थ ध्वनित हो, वहाँ अन्योक्ति अलंकार होता है। अर्थात् जहाँ किसी बात को सीधे या प्रत्यक्ष न कहकर अप्रत्यक्ष रूप से कहते हैं, वहाँ अन्योक्ति अलंकार होता है।
उदाहरण– 1. माली आवत देखकर, कलियन करि पुकारि
फूले-फूले चुन लिए, काल्हि हमारी बारि।
2. जिन दिन देखे वे कुसुम, गई सो बीति बहार
अब अलि रही गुलाब में, अपत कटीली डार।

हिन्दी के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़िए।
1. अर्थ के आधार पर वाक्य के प्रकार
2. भाषा के विविध स्तर- बोली, विभाषा, मातृभाषा || भाषा क्या है?
3. अपठित गद्यांश क्या होता है और किस तरह हल किया जाता है
4. वाच्य के भेद - कर्तृवाच्य, कर्मवाच्य, भाववाच्य
5. भाव-विस्तार (भाव-पल्लवन) क्या है और कैसे किया जाता है?



I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
rfcompetiton.com

Comments

POST YOUR COMMENT

Categories

Subcribe