s
By: RF competition   Copy   Share  (380) 

पेट्रोलियम परिष्करण का प्रभाजी आसवन | Fractional Distillation Of Petroleum Refining

6609

पेट्रोलियम पदार्थ को उभरी हुई अपारगम्य चट्टानों को बाधित कर प्राप्त किया जाता है। सर्वप्रथम तेल-कूपों से कच्चा तेल प्राप्त किया जाता है। यह भूरे-काले रंग का गाढ़ा द्रव होता है। इस द्रव को सीधे ईंधन के रूप में प्रयुक्त नहीं किया जाता। पहले इसका शोधन किया जाता है। पेट्रोलियम अनेक हाइड्रोकार्बनों का मिश्रण होता है। जब इसका शोधन किया जाता है, तब यह हाइड्रोकार्बनों के विभिन्न प्रभाजों (अंशों) में विभक्त हो जाता है।

Petroleum material is obtained by breaking the protruding impermeable rocks. First of all, crude oil is obtained from oil-wells. It is a thick brownish-black liquid. This liquid is not directly used as fuel. First it is purified. Petroleum is a mixture of several hydrocarbons. When it is refined, it splits into different fractions of hydrocarbons.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
पेट्रोलियम क्या है? | What Is Petroleum?

विभिन्न अवयवों का क्वथनांक भिन्न-भिन्न होता है। पेट्रोलियम शोधन की प्रक्रिया इसी तथ्य पर आधारित है। इन अवयवों को एक विशाल प्रभाजक स्तम्भ के द्वारा पृथक किया जाता है। पेट्रोलियम पदार्थ से पेट्रोलियम गैस, पेट्रोलियम ईथर, पेट्रोल, केरोसिन, डीजल, पेट्रोलियम मोम, पेट्रोलियम कोक आदि प्राप्त किया जाता है।

The boiling point of different ingredients is different. The process of petroleum refining is based on this fact. These components are separated by a large dividing column. Petroleum gas, petroleum ether, petrol, kerosene, diesel, petroleum wax, petroleum coke etc. are obtained from petroleum.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
कोयला क्या है? | कोयले के प्रकार || What Is Coal? | Types Of Coal

refining_of_petroleum_divider_column_physics_

प्रक्रिया (Process)

सर्वप्रथम तेल-कूपों से प्राप्त कच्चे तेल को एक विशाल प्रभाजक स्तम्भ में भरा जाता है। इसके बाद इसे 400℃ ताप तक गर्म किया जाता है। इस तापमान पर डामर को छोड़कर अन्य सभी अवयव वाष्पित हो जाते हैं। जैसे-जैसे स्तम्भ में गर्म वाष्पों का मिश्रण ऊपर की ओर प्रवाहित होता है, वह ठण्डा होता चला जाता है। सबसे अधिक क्वथनांक वाला अवयव सबसे पहले द्रवित होता है। इसे एकत्रित कर लिया जाता है। इसके बाद क्वथनांक के क्रम से अगला अवयव द्रवित होता है और उसे एकत्रित कर लिया जाता है। यह क्रम चलता रहता है। शेष बची हुई गैसें स्तम्भ के ऊपरी हिस्से से बाहर निकल जाती हैं। इस स्तम्भ की विभिन्न ऊँचाइयों पर पृथक किए गए अवयव अलग-अलग एकत्र करके भण्डारित कर लिए जाते हैं।

The crude oil obtained from the first oil-wells is filled in a huge separatory column. It is then heated to a temperature of 400℃. At this temperature all other components evaporate except asphalt. As the mixture of hot vapors flows upward in the column, it cools down. The element with the highest boiling point liquefies first. It is collected. After this the next element in order of boiling point is liquefied and it is collected. This sequence continues. The remaining gases escape out from the upper part of the column. Components separated at different heights of this column are collected and stored separately.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
जीवाश्म ईंधन क्या है? | What Is Fossil Fuel?

पेट्रोलियम परिष्करण के प्रभाजी आसवन के पश्चात् निम्नलिखित महत्वपूर्ण उत्पाद प्राप्त होते हैं–
1. पेट्रोलियम गैस
2. पेट्रोलियम ईथर
3. पेट्रोल अथवा गैसोलीन
4. मिट्टी का तेल अथवा केरोसिन
5. ईंधन ऑयल और डीजल ऑयल
6. स्नेहक ऑयल
7. पेट्रोलियम मोम
8. पेट्रोलियम कोक (ठोस अवशेष)।

The following important products are obtained after fractional distillation of petroleum refining–
1. Petroleum Gas
2. Petroleum Ether
3. Petrol or Gasoline
4. Kerosene
5. Fuel Oil and Diesel Oil
6. Lubricating Oil
7. Petroleum wax
8. Petroleum Coke (Solid Residue).

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
अनवीकरणीय और नवीकरणीय ऊर्जा स्त्रोत | Non-renewable And Renewable Energy Sources

पेट्रोलियम गैस (Petroleum Gas)

इसे 30℃ ताप पर प्राप्त किया जाता है। पेट्रोलियम गैस का प्रयोग ईंधन के रूप में किया जाता है।

It is obtained at 30℃ temperature. Petroleum gas is used as fuel.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
मानव जीवन में ऊर्जा स्त्रोतों का महत्व | Importance Of Energy Sources In Human Life

पेट्रोलियम ईथर (Petroleum Ether)

इसे 30℃ से 90℃ ताप तक प्राप्त किया जाता है। पेट्रोलियम ईथर का प्रयोग शुष्क धुलाई में किया जाता है। इसके अलावा इसका प्रयोग तेल के विलायक के रूप में भी किया जाता है।

It is obtained from 30℃ to 90℃ temperature. Petroleum ether is used in dry washing. Apart from this, it is also used as a solvent for oil.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
ऊर्जा के पारंपरिक और गैर-पारंपरिक स्रोत | Conventional And Non-Conventional Sources Of Energy

पेट्रोल अथवा गैसोलीन (Petrol Or Gasoline)

इसे 70℃ से 200℃ ताप तक प्राप्त किया जाता है। पेट्रोल का प्रयोग वाहनों के ईंधन के रूप में किया जाता है।

It is obtained from 70℃ to 200℃ temperature. Petrol is used as fuel for vehicles.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
वर्णक क्या है? | What Is Pigment?

मिट्टी का तेल अथवा केरोसिन (Kerosene)

इसे 175℃ से 275℃ ताप तक प्राप्त किया जाता है। इसका प्रयोग जेट ईंधन के रूप में किया जाता है। इसके अलावा मिट्टी के तेल को घरेलू ईंधन के रुप में भी प्रयुक्त किया जाता है।

It is obtained from 175℃ to 275℃ temperature. It is used as jet fuel. Apart from this, kerosene is also used as a domestic fuel.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
वस्तुएँ रंगीन क्यों दिखाई देती हैं? | Why Do Objects Appear Colourful?

ईंधन ऑयल और डीजल ऑयल (Fuel Oil And Diesel Oil)

इसे 250℃ से 400℃ ताप तक प्राप्त किया जाता है। डीजल आयल का प्रयोग वाहनों के ईंधन के रूप में किया जाता है। इसका प्रयोग उद्योगों में भी किया जाता है।

It is obtained from 250℃ to 400℃ temperature. Diesel oil is used as fuel for vehicles. It is also used in industries.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
पूरक वर्ण (रंग) क्या होते हैं? | What Are Complementary Colours?

स्नेहक ऑयल (Lubricating oil)

इसे 350℃ ताप पर प्राप्त किया जाता है। स्नेहक ऑयल का प्रयोग स्नेहक के रूप में ग्रीस बनाने के लिए किया जाता है।

It is obtained at 350℃ temperature. Lubricating oil is used as a lubricant to make grease.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
प्रकाश के प्राथमिक वर्ण और मिश्र वर्ण | Primary Colours And Composite Colours Of Light

पेट्रोलियम मोम (Petroleum Wax)

इसका प्रयोग मोमबत्ती और मोम कागज बनाने में किया जाता है। इसके अलावा पेट्रोलियम मोम को ईंधन के रूप में भी प्रयुक्त किया जाता है।

It is used for making candles and wax paper. Apart from this, petroleum wax is also used as fuel.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
प्रकाश का वर्णक्रम क्या है? | प्रकाश का वर्ण विक्षेपण || What Is The Spectrum Of Light? | Dispersion Of Light

पेट्रोलियम कोक (ठोस अवशेष) [Petroleum Coke (Solid Residue)]

पेट्रोलियम कोक का प्रयोग विद्युत उद्योगों में किया जाता है। इसे ईंधन के रूप में भी प्रयुक्त किया जाता है।

Petroleum coke is used in electrical industries. It is also used as fuel.

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
खगोलीय दूरदर्शी का चित्र सहित वर्णन | Astronomical Telescope With Diagram

भौतिक विज्ञान के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Physics.)
1. दृष्टि दोष क्या होते हैं? | What Are Vision Defect?
2. निकट दृष्टि दोष | कारण एवं निवारण || Myopia Or Short Sightedness | Causes And Remedies
3. दूर दृष्टि दोष | कारण एवं निवारण || Hypermetropia Or Long Sightedness | Causes And Remedies
4. जरा दृष्टि दोष और दृष्टि वैषम्य | Presbyopia And Astigmatism
5. आँखों की संरचना का सचित्र वर्णन | Pictorial Description Of Eye Structure



I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
rfcompetiton.com

Comments

POST YOUR COMMENT

Categories

Subcribe