s
By: RF competition   Copy   Share  (359) 

मानव जीवन में संसाधनों का महत्व | Importance Of Resources In Human Life

599

मानवीय आवश्यकताओं की पूर्ति करने वाले स्रोतों को 'संसाधन' कहा जाता है। संसाधनों का प्रयोग कर मानव अपनी कठिनाइयों का निवारण करता है। संसाधनों के द्वारा मनुष्य की आवश्यकताएँ पूरी हो जाती हैं। उदाहरण के लिए जल एक महत्वपूर्ण प्राकृतिक संसाधन है। जल से मनुष्य व अन्य जीवित प्राणियों की प्यास बुझती है। इसके अलावा खेतों में फसलों की सिंचाई के लिए जल का प्रयोग किया जाता है। स्वच्छता प्राप्त करने, भोजन पकाने आदि कार्यों में भी जल का प्रयोग किया जाता है। जल के समान अन्य मूल्यवान संसाधन भी मानवीय आवश्यकताओं की पूर्ति करते हैं।

Resources that satisfy human needs are called 'resources'. Human beings solve their difficulties by using resources. Human needs are fulfilled through resources. For example, water is an important natural resource. Water quenches the thirst of humans and other living beings. Apart from this, water is used to irrigate crops in the fields. Water is also used for obtaining cleanliness, cooking food etc. Like water, other valuable resources also fulfill human needs.

भूगोल के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Geography.)
नवीकरणीय और अनवीकरणीय संसाधन | Renewable And Non-Renewable Resources

संसाधनों का प्रयोग कर मानव ने अपने जीवन को सुखद और सरल बना लिया है। प्राचीन काल में मनुष्य पूर्ण रूप से प्रकृति पर निर्भर था। आगे चलकर मनुष्य ने अपनी बुद्धि का प्रयोग कर प्राकृतिक तत्वों को अपनी आवश्यकताओं के अनुसार परिवर्तित कर लिया। प्राकृतिक तत्वों का प्रयोग कर मनुष्य ने संसाधनों का निर्माण किया। वर्तमान में संसार के वे सभी देश अधिक उन्नत हैं, जिनके पास अधिक संसाधन हैं। किसी देश में संसाधन की उपलब्धता उस देश की प्रगति का सूचक है। अतः स्पष्ट है कि मानव जीवन में संसाधनों का विशेष महत्व है।

Man has made his life pleasant and easy by using resources. In ancient times man was completely dependent on nature. Later on, man used his intelligence to change the natural elements according to his needs. Man created resources by using natural elements. At present, all those countries of the world are more advanced, which have more resources. The availability of resources in a country is an indicator of the progress of that country. So it is clear that resources have special importance in human life.

भूगोल के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Geography.)
जैव और अजैव संसाधन | Biotic And Abiotic Resources

किसी भी प्राकृतिक तत्व को संसाधन तभी कहा जाता है, जब वह मानवीय आवश्यकताओं की पूर्ति में सहायक हो। मनुष्य अपनी बुद्धि का प्रयोग कर किसी वस्तु या पदार्थ को संसाधन बना लेता है। मानव अपने कौशल और तकनीकी ज्ञान के आधार पर प्राकृतिक तत्वों को मूल्यवान संसाधनों में परिवर्तित कर देता है। इस प्रक्रिया के द्वारा प्राकृतिक तत्व संसाधन बन जाते हैं।

Any natural element is called a resource only when it is helpful in fulfilling human needs. Man uses his intelligence to make any object or substance a resource. Humans convert natural elements into valuable resources on the basis of their skills and technical knowledge. By this process natural elements become resources.

भूगोल के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Geography.)
संसाधन किसे कहते हैं? | संसाधनों के प्रकार || Who Are The Resources?

अधिकतर संसाधन प्राकृतिक होते हैं। विद्वान मेकनाल के अनुसार "प्राकृतिक संसाधन वे हैं जो प्रकृति के द्वारा प्रदान किए जाते हैं और मानव के लिए उपयोगी हैं।" प्राकृतिक साधनों को संसाधन बनाने का कार्य मनुष्य के द्वारा किया जाता है। मनुष्य स्वयं एक संसाधन है। संसार के किसी भी देश के लिए शिक्षित, कुशल और स्वस्थ मनुष्य एक मूल्यवान संसाधन है।

Most resources are natural. According to scholar Macnall "Natural resources are those which are provided by nature and are useful to man". The work of making natural resources a resource is done by man. Man himself is a resource. An educated, efficient and healthy human being is a valuable resource for any country in the world.

भूगोल के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Geography.)
भारत में मैंग्रोव वन | Mangrove Forest In India

पृथ्वी पर उपलब्ध प्रमुख प्राकृतिक संसाधन निम्नलिखित हैं–
1. मृदा
2. जल
3. वन
4. जीव-जन्तु
5. खनिज
6. शक्ति के स्त्रोत
7. वायु
8. भूमि।

The major natural resources available on earth are–
11. Soil
12. Water
13. Forest
14. Fauna
15. Mineral
16. Sources of Power
17. Air
18. Land.

भूगोल के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Geography.)
पर्वतीय क्षेत्रों के वृक्ष शंकुधारी क्यों होते हैं? | पर्वतीय वन || Mountain Forests

भूगोल के इन 👇 प्रकरणों को भी पढ़ें। (Also read these 👇 episodes of Geography.)
1. भारत पर मानसूनी पवनों का प्रभाव | Effect Of Monsoon Winds On India
2. भारतीय मानसून का आगमन एवं वापसी | Indian Monsoon Arrival And Withdrawal
3. भारत में शीत ऋतु और ग्रीष्म ऋतु | Winter Season And Summer Season In India
4. भारत में वर्षा ऋतु (मानसून का आगमन) | Rainy Season In India (Arrival Of Monsoon)
5. भारत की प्राकृतिक वनस्पति | Natural Vegetation Of India



I hope the above information will be useful and important.
(आशा है, उपरोक्त जानकारी उपयोगी एवं महत्वपूर्ण होगी।)
Thank you.
R F Temre
rfcompetiton.com

Comments

POST YOUR COMMENT

Categories

Subcribe